CBSE Class 10 Political Science Important Questions and Answers: Chapter 4 Gender, Religion and Caste

CBSE Class 10 Political Science Important Questions and Answers: Chapter 4 Gender, Religion and Caste



सीबीएसई कक्षा 10 राजनीति विज्ञान के महत्वपूर्ण प्रश्न: सीबीएसई 10वीं कक्षा के राजनीति विज्ञान (सामाजिक विज्ञान) के चौथे अध्याय लिंग, धर्म और जाति से सभी महत्वपूर्ण प्रश्न और उत्तर प्राप्त करें। सभी महत्वपूर्ण प्रश्नों के उत्तर इन प्रश्नों के अंत में एक PDF में दिए गए हैं।

सीबीएसई कक्षा 10 राजनीति विज्ञान के महत्वपूर्ण प्रश्न: यूनिट 3 डेमोक्रेटिक पॉलिटिक्स II यानी सीबीएसई कक्षा 10 सामाजिक विज्ञान के राजनीति विज्ञान खंड में सामाजिक विज्ञान बोर्ड परीक्षा सीबीएसई कक्षा 10 के लिए 20 अंकों का भार है। इस इकाई में कुल पाँच अध्याय हैं। इस प्रकार, अध्याय 4 लिंग, धर्म और जाति लगभग 5 अंकों के भार के साथ एक महत्वपूर्ण अध्याय बन जाता है।

छात्रों के लिए यह महत्वपूर्ण है कि वे राजनीति विज्ञान के भागों पर अच्छा ध्यान दें। इसलिए, इस लेख में, हम अध्याय 4 लिंग, धर्म और जाति से सभी प्रकार के महत्वपूर्ण प्रश्नों और उत्तरों को शामिल करेंगे।

लिंग, धर्म और जाति के अलावा, यूनिट 3 डेमोक्रेटिक पॉलिटिक्स II में चार अन्य अध्याय हैं: पावर शेयरिंग, संघवाद, राजनीतिक दल और लोकतंत्र के परिणाम। छात्र सीबीएसई कक्षा 10 सामाजिक विज्ञान या इसके राजनीति विज्ञान भाग का पूरा पाठ्यक्रम देख सकते हैं सीबीएसई कक्षा 10 सामाजिक विज्ञान पाठ्यक्रम 2022-2023.

छात्र देख सकते हैं कि एनसीईआरटी पाठ्यपुस्तक के अध्याय 3 लोकतंत्र और विविधता को छोड़ दिया गया है। ऐसा इसलिए है क्योंकि सीबीएसई बोर्ड ने अपने पाठ्यक्रम को अपडेट किया है और 2023 कक्षा 10 बोर्ड परीक्षाओं के पाठ्यक्रम से कुछ अध्यायों/विषयों को हटा दिया है। सीबीएसई कक्षा 10 राजनीति विज्ञान अध्याय 3 लिंग, धर्म और जाति से भी कुछ विषयों को हटा दिया गया है। लिंग, धर्म और जाति से हटाए गए विषयों की सूची और हटाए गए विषयों की पूरी सूची यहां देखें सीबीएसई कक्षा 10 सामाजिक विज्ञान पाठ्यक्रम 2022-2023 हटा दिया गया

सीबीएसई कक्षा 10 राजनीति विज्ञान अध्याय 4 लिंग, धर्म और जाति महत्वपूर्ण प्रश्न

बहुविकल्पी प्रश्न

Q1। किसने कहा कि धर्म को राजनीति से कभी अलग नहीं किया जा सकता है?

ए.डॉ. अम्बेडकर

बी. पं. नेहरू

c.महात्मा गांधी

घ. इनमें से कोई नहीं

Q2। भारत में, राज्य का राजकीय धर्म है:

(ए) हिंदू धर्म

(बी) इस्लाम

(सी) ईसाई धर्म

(डी) कोई नहीं

Q3। वह व्यवस्था जिसमें पिता को परिवार का मुखिया कहा जाता है

क. राजशाही

b. पितृसत्ता

सी। पदानुक्रम

घ. उपरोक्त में से कोई नहीं

Q4। महिला या पुरुष जो पुरुषों और महिलाओं के लिए समान अधिकारों और अवसरों में विश्वास करता है। परिभाषा के लिए सही विकल्प का चयन करें।

(ए) नारीवादी

(बी) पितृसत्ता

(सी) जाति पदानुक्रम

(डी) सामाजिक परिवर्तन

Q5। एक प्रणाली जो पुरुषों को अधिक महत्व देती है और उन्हें महिलाओं पर अधिकार देती है, कहलाती है?

(ए) नारीवादी

(बी) समाजवादी

(सी) पितृसत्ता

(डी) कम्युनिस्ट

Q6। एक धर्मनिरपेक्ष राज्य के रूप में भारत के बारे में निम्नलिखित में से कौन सा कथन गलत है?

(ए) किसी भी धर्म का पालन करने की स्वतंत्रता की अनुमति देता है

(बी) कोई आधिकारिक धर्म नहीं है

(c) धार्मिक आधार पर भेदभाव पर रोक लगाता है

(डी) यह धार्मिक अल्पसंख्यकों के लिए सीटें आरक्षित करता है

प्र7. भारत में जाति व्यवस्था के उन्मूलन के लिए किन नेताओं ने काम किया?

(ए) जोतिबा फुले, डॉ बीआर अंबेडकर, महात्मा गांधी और पेरियार रामास्वामी नायकर

(b) राजा राम मोहन राय, डॉ. बी.आर. अम्बेडकर और महात्मा गांधी

(c) जोतिबा फुले, पेरियार रामास्वामी नायकर और महात्मा गांधी

(d) स्वामी विवेकानंद, जोतिबा फुले और राजा राम मोहन राय

Q8.निर्वाचित निकायों की किस प्रणाली में लगभग एक तिहाई सीटें महिलाओं के लिए आरक्षित हैं?

(ए) पंचायत और नगर पालिका

(बी) लोकसभा

(सी) राज्य विधानसभाएं

(डी) इनमें से कोई नहीं

Q9. समान मजदूरी अधिनियम’ का अर्थ है;

(ए) कानून जो परिवार से संबंधित मामलों से संबंधित है।

(बी) कानून प्रदान करता है कि पुरुषों और महिलाओं दोनों के लिए समान नौकरी के लिए समान वेतन का भुगतान किया जाना चाहिए।

(सी) एक अधिनियम जो दर्शाता है कि घर के अंदर सभी काम परिवार की महिलाओं द्वारा किया जाता है।

(डी) श्रम के भेदभावपूर्ण रवैये और यौन विभाजन के खिलाफ एक कट्टरपंथी कानून।

प्र10. विवाह, तलाक आदि जैसे पारिवारिक मामलों का प्रतिनिधित्व करने वाले कानूनों को जाना जाता है

क. नागरिक कानून

बी. आपराधिक कानून

सी.पारिवारिक कानून

घ. उपरोक्त में से कोई नहीं

प्रश्न11. समाज में लिंग विभाजन पर आधारित है

(ए) सामाजिक उम्मीदें

(बी) रूढ़िवादिता

(सी) दोनों (ए) और (बी)

(डी) इनमें से कोई नहीं

प्र12. भारत में जाति की समस्या के लिए काम नहीं करने वाले नेता थे

(ए) महात्मा गांधी

(b) ज्योतिबा फुले

(सी) बीजी तिलक

(डी) डॉ अम्बेडकर

प्र13. अनुसूचित जनजातियों को प्राय: कहा जाता है

(ए) मैला ढोने वाले

(बी) दलित

(सी) आदिवासी

(डी) बहिष्कृत

अभिकथन कारण प्रश्न

निर्देश : सबसे उपयुक्त विकल्प को चिन्हित करें :

(a) यदि कथन और कारण दोनों सत्य हैं और कारण कथन की सही व्याख्या है।

(b) यदि कथन और कारण दोनों सत्य हैं लेकिन कारण, कथन की सही व्याख्या नहीं करता है।

(सी) यदि दावा सही है लेकिन कारण गलत है।

(डी) यदि दावा और कारण दोनों गलत हैं।

1 अभिकथन: पुरुषों और महिलाओं को समान अधिकार दिए जाने चाहिए।

कारण: पुरुष शारीरिक और भावनात्मक रूप से महिलाओं से श्रेष्ठ हैं।

(a) यदि कथन और कारण दोनों सत्य हैं और कारण कथन की सही व्याख्या है।

(b) यदि कथन और कारण दोनों सत्य हैं लेकिन कारण, कथन की सही व्याख्या नहीं करता है।

(सी) यदि दावा सही है लेकिन कारण गलत है।

(डी) यदि दावा और कारण दोनों गलत हैं।

2 कथन: भारत एक धर्मनिरपेक्ष राज्य है।

कारण: संविधान बिना किसी पूर्वाग्रह या किसी भेदभाव के किसी भी धर्म को मानने, अभ्यास करने और प्रचार करने की स्वतंत्रता देता है।

(a) यदि कथन और कारण दोनों सत्य हैं और कारण कथन की सही व्याख्या है।

(b) यदि कथन और कारण दोनों सत्य हैं लेकिन कारण, कथन की सही व्याख्या नहीं करता है।

(सी) यदि दावा सही है लेकिन कारण गलत है।

(डी) यदि दावा और कारण दोनों गलत हैं।

3 कथन: भारत में महिलाओं को कई तरह से भेदभाव और नुकसान का सामना करना पड़ता है।

कारण: भारत एक पितृसत्तात्मक समाज है।

(a) यदि कथन और कारण दोनों सत्य हैं और कारण कथन की सही व्याख्या है।

(b) यदि कथन और कारण दोनों सत्य हैं लेकिन कारण, कथन की सही व्याख्या नहीं करता है।

(सी) यदि दावा सही है लेकिन कारण गलत है।

(डी) यदि दावा और कारण दोनों गलत हैं।

4 दावा: कन्या भ्रूण हत्या के कारण भारत में लिंगानुपात में गिरावट आई।

कारण: भारतीय परिवार लड़के की चाह में कन्या का गर्भपात करवा देते हैं।

(a) यदि कथन और कारण दोनों सत्य हैं और कारण कथन की सही व्याख्या है।

(b) यदि कथन और कारण दोनों सत्य हैं लेकिन कारण, कथन की सही व्याख्या नहीं करता है।

(सी) यदि दावा सही है लेकिन कारण गलत है।

(डी) यदि दावा और कारण दोनों गलत हैं।

अभिकथन: सांप्रदायिकता इस विचार पर आधारित है कि धर्म सामाजिक समुदाय का प्रमुख आधार है।

कारण: जाति को राजनीति से दूर रखना चाहिए।

(a) यदि कथन और कारण दोनों सत्य हैं और कारण कथन की सही व्याख्या है।

(b) यदि कथन और कारण दोनों सत्य हैं लेकिन कारण, कथन की सही व्याख्या नहीं करता है।

(सी) यदि दावा सही है लेकिन कारण गलत है।

(डी) यदि दावा और कारण दोनों गलत हैं।

सीबीएसई कक्षा 10 राजनीति विज्ञान अध्याय 4 लिंग, धर्म और जाति के महत्वपूर्ण प्रश्नों के उत्तर पाने के लिए जागरण जोश के साथ बने रहें!



Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *